अंतरराष्ट्रीय

तानाशाह के देश में मिला पहला मरीज तो उठाया ये खौफनाक कदम

डेस्कः मौजूदा समय में विश्व के लगभग हर देश में कोरोना का कहर फैला हुआ है. वहीं, दूसरी तरफ वैश्विक महामारी ने यूएस से लेकर अफ्रीका तक के व्यापार को हिला कर रख दिया है. फिलहाल हर देश की आर्थिक स्थिति कमजोर हो गई है. यानी कि विश्व की कमर मानों टूट सी गई है.

वहीं, हर रोज ये महामारी कईयों की जीवन लीला ही समाप्त कर दे रही है. इतना ही नहीं मौजूदा समय में हर अस्पताल लाशों से पटी हुई है. यहां तक की कब्रिस्तान में भी शवों को दफनाने के लिए जगह नहीं बची है.

कोरोना संक्रमित को गोलीमा’र ह’त्या

ऐसे में नार्थ कोरिया इस महामारी से अछूता बताया जा रहा था, हालांकि फिलहाल मिली जानकारी के मुताबिक तानाशाह किम जोंग उन के देश में एक मरीज कोरोना संक्रमित पाया गया, जिसकी गोलीमा’र ह’त्या कर दी गई. साथ ही इस पहला मामला सामने आने के बाद तानाशाह और भी क्रूर हो गया है.

बताया जा रहा है कि दिसंबर माह से तबाही मचा रहे इस संक्रमण का नॉर्थ कोरिया में एक भी मामला सामने नहीं आया था लेकिन अब इस देश ने अपना पहला कोरोना मरीज कंफर्म किया है. खबरों की मानें तो कुछ महीनों पहले यहां एक कोरोना संदिग्ध की गोली मरकर हत्या कर दी गई थी, ताकि ये वायरस ना फैले.

वहीं, मामला सामने आते ही देश के तानाशाह ने बहुत बड़ा फैसला लिया है. नॉर्थ कोरिया ने अपने देश में स्टेट ऑफ़ इमरजेंसी लागू कर दिया है. हाल ही में नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने एक इमरजेंसी मीटिंग की. जिसके बाद पूरे देश में इमरजेंसी लगा दी है और देश के काएसोंग शहर में कंप्लीट लॉकडाउन कर दिया है. बता दें कि इसी शहर से कोरोना का पहला मरीज पाया गया है.

शख्स को क्वारेंटाइन किया गया

खबरों की मानें तो कोरोना का ये पहला संदिग्ध मरीज तीन साल पहले नॉर्थ कोरिया से भाग गया था. इसके बाद जब साउथ कोरिया में कोरोना तेजी से फैला तो इसने गैरकानूनी तरीके से बॉर्डर क्रॉस किया.

हालांकि अपनी खबर में इस शख्स को कोरोना पॉजिटिव नहीं बताया है. उसने लिखा है कि उसे साँस लेने में तकलीफ है और उसके अंदर कोरोना के लक्षण पाए गए हैं. इस शख्स को क्वारेंटाइन कर दिया गया है. साथ ही ये पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि वो खुद कितने लोगों के कांटेक्ट में आया था.

वहीं, 24 जुलाई के बाद से देश में सख्त लॉकडाउन लगा दिया गया है. नॉर्थ कोरिया में 30 जनवरी से सारे बॉर्डर्स बंद कर दिए गए थे. साथ ही बाहर देश से किसी के आने पर रोक लगा दी गई थी. अब यहां कड़े नियम लागू कर दिए गए हैं. जो भी शख्स बिना मास्क के बाहर दिखेगा उसे तीन महीने कठोर परिश्रम के साथ जेल भेज दिया जाएगा. मीडिया रिपोर्ट्स ने साफ़ किया कि किम जोंग कोरोना को हराने में किसी भी सख्ती से पीछे नहीं हटेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker