मनोरंजन

लॉटरी के गोल्डन नियम को जानकर महिला बन गई करोड़पति, जानिए क्या है वह नियम

 

डेस्क: कई लोगों की यह आदत होती है कि वह हमेशा लॉटरी खेलते हैं जबकि कई लोग इसे गंदा बताते हैं। उनका मानना होता है यह सब एक धोखा है। इसमें पैसे बर्बाद करके कुछ फायदा नहीं होने वाला। लेकिन कई लोग अलग-अलग तरह की लॉटरी खेल कर बड़े इनाम भी जीत जाते हैं। ऐसी ही एक महिला है जिन्होंने लॉटरी के गोल्डन नियम को जानकर 8.8 करोड़ रुपए इनाम में जीते।

1 साल से खेल रही थी लॉटरी

दरअसल, अमेरिका के मिशिगन की रहने वाली महिला ने बीते दिनों एक जैकपॉट जीत कर करोड़ों रुपए जीते। बताया जा रहा है कि यह महिला पिछले 1 साल से लॉटरी खेल रही थी। आखिरकार उस महिला की किस्मत चमकी और वह जैकपॉट जीत गई। इस लॉटरी को जीतने वाली महिला ने अपना नाम उजागर नहीं किया है लेकिन उन्होंने लॉटरी जीतने के अपने तरीके को जरूर उजागर कर दिया।

क्या है गोल्डन रूल?

उन्हें कहीं से इस बात की जानकारी मिली थी कि साल 1991 में एक व्यक्ति एक ही नंबर के सेट पर बार-बार लॉटरी खेल कर अरबपति बन गया था। उस व्यक्ति ने 136 करोड़ रुपए का लॉटरी जीता था। इसी तरीके को अपनाते हुए लगातार 1 साल से वह महिला भी एक ही नंबर के सेट पर लॉटरी खेल रही थी। आखिरकार उनका यह आइडिया 1 साल बाद उनके काम आया।

जीत पर नहीं हुआ यकीन

इस महिला ने 18 अगस्त को ऑनलाइन एक लॉटरी खरीदा था। उनका कहना है कि वह हर हफ्ते “लोटो 47” लॉटरी खेलती है। पिछले 1 साल से उन्होंने ऑनलाइन ही लॉटरी खेला है और वह हमेशा एक ही नंबर पर लॉटरी खेलती है। जब लॉटरी का रिजल्ट आया तो उन्हें यह पता चला कि कोई जीता है। लेकिन उन्हें इस बात की खबर नहीं थी कि लॉटरी की विजेता वह खुद हैं। जब उन्होंने ध्यान से अपने नंबरों को मिलाया तब उन्हें पता चला कि वह लॉटरी जीत चुकी है।

ऐसे खर्च करेंगी रुपए

लॉटरी जीतने के बाद वह हेड क्वार्टर से अपनी जीत का दावा कर अपना इनाम इकट्ठा कर चुकी है। उनकी जीती हुई राशि 1.2 मिलीयन डॉलर्स से उन्होंने टैक्स कटवा कर 734,000 डॉलर लेना सही समझा। उनका कहना है कि इस रकम का थोड़ा हिस्सा वह अपने परिवार के साथ खर्च करेंगी और बाकी रकम को अपने बुढ़ापे के लिए बचा कर रखेंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker