राष्ट्रीय

नीरज के बाद अवनि ने भी भारत को टोक्यो में दिलाया गोल्ड, टोक्यो में फिर गूंजा भारतीय राष्ट्रगान

 

डेस्क: 29 अगस्त रविवार को भाविना पटेल ने टोक्यो पैरालंपिक में रजत पदक जीतकर भारत का खाता खोला जिसके बाद अब लगातार जीत का सिलसिला शुरू हो चुका है। भाविना के बाद आज 30 अगस्त के दिन अवनि लेखरा ने महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग (SH1) में अपने प्रतिद्वंदी को हराकर स्वर्ण पदक जीत लिया।

मात्र 19 वर्ष की है अवनि और रच दिया इतिहास

8 नवंबर 2001 को जन्मी अवनि लेखरा अभी मात्र 19 वर्ष की है और उन्होंने निशानेबाजी में स्वर्ण जीतकर ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला बन गई। बता दें कि यह पैरालंपिक में शूटिंग के खेल में भारत का पहला गोल्ड मेडल है। उन्होंने 249.6 कोर करके अपने प्रतिद्वंदी को हराकर यह मुकाम हासिल किया।

गोल्ड जीतकर बनाया विश्व रिकॉर्ड

टोक्यो पैरालंपिक 2020 के महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग के फाइनल मुकाबले में गोल्ड मेडल जीतकर अवनि ने ना केवल विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की बल्कि उन्होंने पैरालंपिक के रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया। ऐसा करके उन्होंने इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज करवा लिया। यह देश के लिए गर्व की बात है।

ऐसा लगा कि मैं दुनिया के शीर्ष पर हूं : अवनि

फाइनल मुकाबले में गोल्ड जीतने के बाद साक्षात्कार में उन्होंने बताया कि उन्हें इस बात की खुशी है कि वह देश के लिए इतना बड़ा योगदान देने वाली व्यक्ति बन सकी। उन्होंने कहा “मैं इस भावना का वर्णन नहीं कर सकती मुझे ऐसा लग रहा है कि मैं दुनिया के शीर्ष पर हूं।”बता दें कि अवनि के गोल्ड जीतने के साथ ही भारत ने अब तक टोक्यो पैरालंपिक 2020 में 5 पदक जीत लिए हैं।

शौक के तौर पर शुरू किया था शूटिंग

अवनि ने बताया कि जब वह 11 साल की थी तो वह एक कार दुर्घटना की शिकार हो गई। जिस से उभरने के बाद उनके पिता उन्हें शूटिंग रेंज ले गए। वहीं से उन्होंने शौक के तौर पर शूटिंग करना शुरू किया और आज वह इस मुकाम पर पहुंच गई है। शौक के तौर पर शुरू किए खेल में आगे बढ़कर आज उन्होंने इतिहास रच दिया।

युवाओं के लिए रोल मॉडल बनी अवनि

एक बार एक साक्षात्कार में उन्होंने बताया था कि “जब आप विकलांग होते हैं तो लोग आपको कम आंकने लगते हैं। लेकिन विकलांगता के साथ जीना ही अपने आप में एक बड़ी जीत है।” अपनी इस जीत के साथ ही अवनि उन सभी युवाओं के लिए एक रोल मॉडल बन गई जो आगे चलकर स्पोर्ट या पैरा स्पोर्ट में भाग लेने की सोच रहे हैं।

नीरज चोपड़ा और अभिनव बिंद्रा ने दिया बधाई

अग्नि के इस ऐतिहासिक जीत के बाद टोक्यो ओलंपिक 2020 में गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा ने अवनि लेखरा को ट्वीट करके बधाई दिया। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा “आपके पहले पैरालंपिक में यह वाकई में एक बेहतरीन प्रदर्शन था। हमें एक बार और टोक्यो में भारत का राष्ट्रगान सुनने का मौका देने के लिए आपका धन्यवाद।”

अभिनव बिंद्रा ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर अनु को बधाई देते हुए लिखा कि “भारत को निशानेबाजी में पहला पैरालंपिक स्वर्ण पदक दिलाने के लिए आप ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। देश को आप पर बहुत गर्व है।” उन्होंने अपनी के इस ऐतिहासिक जीत के लिए उन्हें बधाई भी दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker