राष्ट्रीय

विवेक बिंद्रा के साथ साक्षात्कार में कई अहम मुद्दों पर बातें की बाबा रामदेव ने

डेस्क: देश में पिछले कुछ समय से एलोपैथी vs आयुर्वेद चल रहा था। लेकिन अब यह लड़ाई एलोपैथी वर्सेस आयुर्वेद कि ना होकर IMA vs रामदेव की हो गई है। कई लोग IMA का समर्थन कर रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर कई लोग आयुर्वेद को अच्छा बताते हुए बाबा रामदेव (baba ramdev with vivek bindra) का समर्थन कर रहे हैं।

दरअसल कुछ दिन पहले बाबा रामदेव ने एलोपैथी को स्टूपिड साइंस कह दिया था। जिसके बाद एक विवाद छिड़ गया जिसने एलोपैथी vs आयुर्वेद का रूप ले लिया। IMA के वरिष्ठ अधिकारी लगातार बाबा रामदेव को गलत साबित करने की कोशिश कर रहे हैं। यहां तक की बाबा रामदेव के अरेस्ट की भी मांग की गई। लेकिन बाबा रामदेव आयुर्वेद को अच्छा बताते हुए अपनी बात पर अड़े हुए हैं।

Also Read: कांग्रेस के नेता ने की नितिन गडकरी की जमकर तारीफ, तारीफ में कह दी यह बात

31 मई की सुबह को डॉक्टर विवेक बिंद्रा (baba ramdev with vivek bindra) के यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो अपलोड किया गया जिसमें विवेक बिंद्रा ने बाबा रामदेव के साथ IMA vs रामदेव के ऊपर काफी देर तक चर्चा की। इस चर्चा में उन्होंने बाबा रामदेव से कई सवाल पूछे।

डॉक्टर विवेक बिंद्रा (baba ramdev with vivek bindra) के साथ इस बातचीत के दौरान बाबा रामदेव ने कई अहम बातें कही। सबसे पहले बाबा रामदेव ने देश में महामारी के इस स्थिति में कोरोना मरीजों का देखभाल करने वाले डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों को आभार व्यक्त किया।

बाबा रामदेव ने कहा कि वे स्वास्थ्य कर्मियों को डॉक्टरों से भी अधिक महत्व देते हैं क्योंकि वह स्वास्थ्य कर्मी कोरोनावायरस के खतरे को पूरी तरह ना जानते हुए भी दिन-रात मरीजों की सेवा में लगे हुए हैं। इन कोरोनावायरस के प्रति रामदेव ने अपनी कृतज्ञता व्यक्त की।

Also Read: प्रेमी के शव के साथ करवाई गई प्रेमिका कि शादी, वजह जानकर चौंक जाएंगे

साथ ही बाबा रामदेव (baba ramdev with vivek bindra) ने डॉक्टरों के किसी ड्रग माफिया या अस्पताल के मालिकों के दबाव में आकर काम ना करने की अपील की। उनके अनुसार अस्पताल के मालिकों और ड्रग माफियाओं के दबाव में आकर डॉक्टरों को अनावश्यक टेस्ट और ऑपरेशन करने पड़ते हैं।

बाबा रामदेव के अनुसार एलोपैथी केवल सर्जरी और लाइफ सेविंग ड्रग्स में माहिर है। अतः एलोपैथी को केवल इन दो चीजों पर अधिक ध्यान देना चाहिए। बाकी का काम आयुर्वेद के ऊपर छोड़ देना चाहिए।

बाबा रामदेव ने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए केवल वैक्सीनेशन की डबल डोज काफी नहीं है। यदि वैक्सीन के साथ-साथ आयुर्वेद का भी डोज ले लिया जाए तो कोरोना से लड़ने में अधिक सफलता मिलेगी।

Also Read: दुकानदार के funny नोटिस का आईपीएस ने दिया जवाब, लोगों ने दिए मजेदार रिएक्शन

dr vivek bindra

जब विवेक बिंद्रा (baba ramdev with vivek bindra) ने उनसे पूछा की IMA के अधिकारी आपको एक लाइव डिबेट के लिए चुनौती दे रहे हैं, क्या आप इस चुनौती को स्वीकार करेंगे? इस पर बाबा रामदेव ने कहा कि किसी एक चैनल पर क्यों पूरे देश की मीडिया और सोशल मीडिया को बुला लीजिए।

बाबा रामदेव के अनुसार 10% मरीजों को यदि वेंटिलेटर, ऑक्सीजन, स्टेरॉइड, एंटीबायोटिक इत्यादि दे करके बचाया गया है तो 90% लोगों की जान बिना इन सबके भी बची है लेकिन फिर भी उनके अस्पताल के बिल आसमान को छू रहे हैं। उनके अनुसार यह केवल एलोपैथी में ही हो सकता है। इसके साथ ही उन्होंने आयुर्वेद को काफी सस्ता और लाभदायक बताया।

बाबा रामदेव का कहना है की आयुर्वेद का इलाज घर पर भी काम से काम खर्च में संभव है। घर में लगे तुलसी अथवा गिलोय के पौधे से ही आयुर्वेदिकइलाज संभव है। गिलोय का रस पीकर अपने इम्यूनिटी को बढ़ाया जा सकता है। जरूरी नहीं कि आपको पतंजलि के ही गिलोय का सेवन करना हो।

Also Read: ब्रिटेन में नदी की तलहट्टी से मिली भारतीय-मूल के जोड़े की अंगूठी

बाबा रामदेव (baba ramdev with vivek bindra) का दावा है कि एलोपैथी में किसी भी बीमारी को जड़ से खत्म करने की क्षमता नहीं है। वह केवल इसी बीमारी को नियंत्रण में ही रख सकती है। जबकि योग और आयुर्वेद से किसी भी बीमारी को होने ना देना भी संभव है। अतः उन्होंने सभी लोगों से अच्छी सेहत के लिए योग करने की अपील की।

जब विवेक बिंद्रा ने उनसे पूछा कि क्या वे योग गुरु हैं या बिजनेस गुरु हैं? इसका जवाब देते हुए रामदेव ने कहा कि वे योग गुरु भी हैं और उद्योग गुरु भी हैं। उनके अनुसार अर्थ की उपासना ना करने वाला अनर्थ करता है। बाबा रामदेव का कहना है कि भारत को दुनिया का सबसे बड़ा औद्योगिक देश बनाने के लिए उद्योग आवश्यक है। अतः वे योग के साथ-साथ उद्योग के गुरु बनकर भी भारत को सबसे आगे लाना चाहते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker