अभिव्यक्ति

भारत मेरा बदल रहा है, कहो चमचों, जल रहा है

डेस्क: सदियों के इंतजार के बाद राम मंदिर के निर्माण के लिए बुधवार को अयोध्या में भूमि पूजन व मंदिर का शिलान्यास हुआ.

इस अवसर पर लोगों ने विभिन्न तरीके से अपने उत्साह को व्यक्त किया. कहीं पटाखे फोड़े गये तो ढोल नगाड़े के साथ शोभायात्रा निकली. वहीं सोशल मीडिया पर भी लोगों ने जम कर विभिन्न तरीके से अपने मन की बात का इजहार किया.

कई तस्वीर व वीडियो मीडिया में छाये रहे. ऐसे ऐतिहासिक मौके पर भला कवि-कवयित्री कैसे पीछे रह सकते हैं. उन्होंने भी एक से एक रचनाएं लिख डालीं.

इसी क्रम में हावड़ा की एक युवा कवयित्री अनु नेवटिया ने एक मजेदार कविता लिखी, जिसकी खूब प्रशंसा की जा रही है. आप भी पढ़िये. कविता अगर आपको अच्छी लगे तो अपने मित्रों के लिए वाट्सएप व फेसबुक के जरिये शेयर कर दें.

सदी युग बदले मगर
राम नाम अटल रहा है 😍
कहो चमचों, जल रहा है? 😆

मोदीजी को वोट देने
का निर्णय सफल रहा है😍
कहो चमचों, जल रहा है?😆

राम नाम से गुंजित
हो ये नभ थल रहा है 😍
कहो चमचों, जल रहा है?😆

साष्टांग प्रणाम उनका
चैनलों पर चल रहा है😍
कहो चमचों, जल रहा है?😆

सालों के संघर्षों का ये
मीठा मीठा फल रहा है😍
कहो चमचों, जल रहा है?😆

इतिहास रचने को अग्रसर
भारत मेरा बदल रहा है😍
कहो चमचों, जल रहा है?😆

दीप जल रहे हैं कहीं
और कहीं दिल जल रहा है😍
कहो चमचों, जल रहा है?😆

Anu Newatia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker