पश्चिम बंगाल

चक्रवात ‘यास’ का बंगाल और उड़ीसा में कहर, तेज हवाओं के साथ बारिश भी हुई शुरू

डेस्क: बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) से उत्पन्न हुए चक्रवात ‘यास’ (effect of yaas in bengal) के प्रति बंगाल (West Bengal) के और उड़ीसा (Odisha) के लोगों के मन में डर बैठ गया है। सभी इस बात को लेकर चिंतित हैं कि न जाने इस चक्रवात (Cyclone) से उन्हें कितना नुकसान होगा।

दरअसल, पिछले वर्ष ही ‘अम्फान’ (Amphan) नाम के चक्रवात (Cyclone) का भी बंगाल (Bengal) और उड़ीसा (Odisha) में काफी प्रभाव देखने को मिला था। जैसा कि बताया जा रहा है कि ‘यास’ का प्रभाव (effect of yaas) ‘अम्फान’ (Amphan) से कई गुना अधिक होने वाला है, ऐसे में लोगों के मन में डर बैठ हुआ है।

Also Read: ऑटो चालक के. प्रेमचंद्रन नहीं डरते संक्रमण से, अब तक 500+ मरीजों को पहुंचा चुके हैं अस्पताल

Also Read: आ चुका है कोरोना का थर्ड वेव, ऐसे रखें बच्चों को सुरक्षित

10 कि.मी. के रफ्तार से आगे बढ़ रहा है ‘यास’

मौसम विभाग कि मानें तो अगले 24 घंटे में ‘यास’ एक गंभीर चक्रवाती तूफान (Cyclone Yaas) में तब्दील होने वाला है। बताया जा रहा है कि ओडिशा तथा बंगाल के तट (effect of yaas in coast of bengal and odisha)पर इसका असर (effect of yaas in bengal) बुधवार से दिखने को मिलेगा।

तटीय इलाकों (coastal area) में रहने वाले नागरिकों को इससे होने वाले खतरों से बचाने के लिए उन्हें सुरक्षित जगह भेजा जा रहा है। बताया जा रहा है कि यह चक्रवात 10 कि.मी. प्रति घंटा के रफ्तार से आगे बढ़ रहा है।

Also Read: इंजीनियरिंग की छात्रा ने डॉक्टरों की मदद के लिए बनाई रोबोट, इन कामों में करेगा डॉक्टरों की मदद

150 kmph के रफ्तार से चल रही हैं हवाएं

आपको बता दें कि ‘यास’ (effect of yaas in bengal) चक्रवात के कारण 150-160 कि.मी. प्रति घंटा के रफ्तार से हवाएं चल सकती है। उड़ीसा के भुवनेश्वर (Bhubaneswar) में बारिश की शुरुआत हो चुकी है।

उड़ीसा के बालासोर तट (Balasore coast) में स्थिति के निगरानी के लिए राज्य के गृह मंत्री को मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है। साथ ही तटीय इलाकों में रहने वालों को भी सुरक्षित जगह पर पहुंचाया जा रहा है।

Also Read: देश में कोरोना की तीसरी लहर, बच्चे हो रहे हैं शिकार, इन राज्यों में दिखी असर

effect of cyclone yaas in west bengal and odisha

Also Read: ऑटो चालक के. प्रेमचंद्रन नहीं डरते संक्रमण से, अब तक 500+ मरीजों को पहुंचा चुके हैं अस्पताल

राज्य सरकारें हैं पूरी तैयार

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में ‘यास’ का भारी असर (effect of yaas in bengal) 26 मई बुधवार को देखने को मिलेगा। हालांकि 25 मई बुधवार से ही राज्य में हल्की बारिश देखने को मिल रही है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री (chief minister of west bengal) ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) का कहना है चक्रवात ‘यास’ (Cyclone yaas) से निपटने के लिए सभी जरूरी तैयारियां कर ली गई है। केंद्र सरकार (central government) ने भी चक्रवात से प्रभावित होने वाले सभी राज्यों को हर आवश्यक मदद देने का आश्वासन दिया है।

Also Read: नई दुल्हन सुहागरात छोड़कर ससुराल से भागी, जानिए पूरा मामला

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker