मध्य प्रदेश

को’रोना त्रासदी में भी मजबूरों के लिए भगवान बन रहे RSS के स्वयंसेवक

लॉकडाउन में भी सेवा भारती के स्वयं सेवक एक बार उसी जूनून से गरीबों और असहाय लोगों के साथ खड़ी दिखाई दे रहे हैं

डेस्क: कोरोना त्रासदी को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन के दौरान गरीब मजबूर लोगों के लिए आरएसएस के स्वयंसेवक सड़क पर उतरे हैं, जो भूखे बेसहारों की मदद कर रहे हैं. गुजरात में भूकंप त्रासदी हो या फिर केदारनाथ आपदा या देश किसी अन्य कोने में कभी प्रकृतिक आपदा आने पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की सेवा भारती के सेवक हमेशा फ़रिश्ते के रूप में खड़े मिलते हैं.

उन्होंने हमेशा पीड़ितों की आगे बढ़ कर सहायता की है. इसी तरह कोविड -19 संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए घोषित लॉकडाउन में भी सेवा भारती के स्वयं सेवक एक बार उसी जूनून से गरीबों और असहाय लोगों के साथ खड़ी दिखाई दे रहे हैं.
लॉकडाउन में प्रभावित होने वाले निर्धनों एवं वंचितों तक सहायता पहुंचाने के लिये बड़ी योजना बनायी है.

इस योजना के तहत वंचितों तक मदद पहुंचाने के लिये सम्पूर्ण महानगर को अपनी नगर रचना के अनुसार बांटा गया है और प्रत्येक नगर पर 15 से 20 कार्यकर्ताओं की टीम तैयार की गयी है जो अपनी छोटी टोलियां बनाकर नियमित रूप से ऐसे क्षेत्रों में जहां श्रमिक,रिक्शा चालक या निर्धन निवास करते हैं. उन्हें भोजन अथवा भोजन सामग्री जैसे आटा, चावल,दालें,नमक,हल्दी आदि के पैकेट बनाकर वितरित कर रहे हैं.

महानगर सेवाप्रमुख डॉ जीतेन्द्र कुमार ने बताया कि इस आपदा के कठिन समय में हेल्पलाइन नम्बर भी लोगों में प्रचारित-प्रसारित किये जा रहे हैं, जिन पर रमते राम रोड, सुभाष मार्केट स्थित नियन्त्रण कक्ष से सम्पूर्ण निगरानी रखी जा रही है. इन के जरिये सूचना मिलते ही सेवा भारती के स्वयंसेवक तुरन्त अपनी नगरों की टोलियों के माध्यम से जरूरतमंद तक आवश्यक मदद पहुंचाई जा रही है.

स्वयंसेवकों की मदद से नियमित रूप से चलने वाले इस सेवा कार्य में आज कुल 350 कार्यकर्ताओं के द्वारा 8472 भोजन पैकेट एवं 75 क्विंटल खाद्य सामग्री वितरित की गयी, जिसके माध्यम से कुल 800 परिवारों में राशन पहुंचाया गया है. इसके अतिरिक्त आज कुछ नगर निगम के स्वास्थ्य कर्मियों को दस्ताने व मॉस्क तथा उचित दवा भी बांटी गयी। सभी सोसाइटी में जानकारी करके ग़ाज़ियाबाद में रहकर पढ़ रहे विभिन्न कॉलेजों के विद्यार्थियों व बुजुर्ग लोगों की मदद का कार्य भी किया रहा है.

जन सामान्य एवं कार्यकर्ताओं की आर्थिक सहभागिता से ही इस सेवा कार्य को सम्पन्न किया जा रहा है. अब तक कुल 3.5 लाख की राशि समाज के सहयोग से एकत्रित हुई है, जिससे यह सेवा कार्य किया जा रहा है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker