राष्ट्रीय

सोनू सूद आये सामने, पोस्ट कर रखी अपनी बात, कहा, ‘एक-एक पैसा जान बचाने के लिए है’

 

डेस्क: केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) द्वारा अभिनेता सोनू सूद और उनके संगठन पर 20 करोड़ रुपये की कर चोरी का आरोप लगाये जाने के बाद अभिनेता ने सोमवार को कहा कि उनके संगठन का एक-एक रुपया जरूरतमंद और अनमोल जीवन को बचाने के लिए ‘अपनी बारी का इंतजार’ कर रहा है. अपने परिसरों और उनसे संबद्ध लोगों के खिलाफ पिछले सप्ताह में कई बार हुई छापेमारी के बाद पहली बार अभिनेता (48) ने कहा कि वह ‘कुछ खास मेहमानों’ की खातिरदारी में व्यस्त थे. इसलिए वह पिछले चार दिनों से लोगों की सेवा नहीं कर पाये.

उन्होंने इंस्टाग्राम पर लिखा, ‘पूरी विनम्रता के साथ मैं वापस आ गया हूं. जीवन बचाने में आपकी सेवा की खातिर. मेरी यात्रा जारी है. जय हिंद.’ अभिनेता और उनके लखनऊ स्थित बुनियादी ढांचा संगठन पर आयकर विभाग की छापेमारी के बाद सीबीडीटी ने दावा किया कि यह पाया गया है कि सूद ने ‘कई फर्जी संस्थाओं से फर्जी तरीके से ऋण के रूप में ‘बेनामी आय’ अर्जित की. ‘दबंग’ के अभिनेता कोविड-19 महामारी के दौरान अपने सूद चैरिटी फाउंडेशन के जरिए प्रवासियों और अन्य लोगों के लिए किये गये काम से सुर्खियों में आये.

लोगों की सेवा में खुद को समर्पित किया है

सीबीडीटी ने अभिनेता पर विदेशी अंशदान विनियमन कानून (एफसीआरए) के तहत नियम का उल्लंघन करने और विदेशों से चंदा लेने का आरोप लगाया. सूद ने अपने बयान में कहा कि उन्होंने अपनी ‘पूरी ताकत और दिल से’ देश के लोगों की सेवा में खुद को समर्पित करने का संकल्प लिया है.

कर भला तो हो भला

उन्होंने कहा, ‘आपको हमेशा कहानी का अपना पक्ष बताने की जरूरत नहीं है. यह समय बताएगा. एक अनमोल जीवन बचाने और जरूरतमंदों तक पहुंचने के लिए मेरे संगठन का एक-एक रुपया अपनी बारी का इंतजार कर रहा है. इसके अलावा कई मौकों पर मैंने मानवीय कारणों के लिए, ब्रांडों को मेरी फीस दान करने के लिए प्रोत्साहित किया है, जो हमें आगे बढ़ाता है.’ उन्होंने लिखा, ‘कर भला तो हो भला, अंत भला तो सब भला.’

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sonu Sood (@sonu_sood)

कर चोरी से संबंधित मिले आपत्तिजनक सबूत

शनिवार को एक बयान में सीबीडीटी ने दावा किया कि उसे अभिनेता और उसके सहयोगियों के परिसरों की तलाशी के दौरान ‘कर चोरी से संबंधित आपत्तिजनक सबूत’ मिले हैं. तलाशी 15 सितंबर को शुरू हुई और तीन दिनों तक जारी रही. बयान में कहा गया, ‘अभिनेता ने कई फर्जी संस्थाओं से फर्जी तरीके से ऋण के रूप में बेनामी आय अर्जित की.’

इसमें कहा गया है कि अब तक 20 ऐसी प्रविष्टियां मिली हैं और इन्हें उपलब्ध कराने वालों ने जांच के दौरान अभिनेता को ‘‘फर्जी” तरीके से (खातों में लेनदेन की प्रविष्टियां) देने की बात स्वीकार की है. कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए पिछले साल राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान कई प्रवासी कामगारों को उनके गृह राज्यों तक पहुंचने के लिए रेल, हवाई और सड़क के माध्यम से मुफ्त परिवहन की व्यवस्था करने के बाद सूद ने सुर्खियां बटोरीं.

2.1 करोड़ रुपये का मिला विदेशी चंदा

सीबीडीटी ने कहा कि अभिनेता द्वारा स्थापित चैरिटी फाउंडेशन ने एक अप्रैल, 2021 से अब तक 18.94 करोड़ रुपये का चंदा एकत्र किया. इसमें से फाउंडेशन ने विभिन्न राहत कार्यों के लिए लगभग 1.9 करोड़ रुपये खर्च किए हैं और शेष 17 करोड़ रुपये संगठन के बैंक खाते में हैं, जिसका इस्तेमाल नहीं हुआ है. सीबीडीटी ने आरोप लगाया गया है कि चैरिटी फाउंडेशन ने विदेशी दानदाताओं से एफसीआरए नियमों का ‘‘उल्लंघन” कर 2.1 करोड़ रुपये का चंदा भी जुटाया है.

दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने हाल में अपने ‘देश का मेंटर्स’ कार्यक्रम के लिए सूद को एंबेसडर नियुक्त किया है, जिसके तहत छात्रों को अपने करियर के विकल्प बनाने में मार्गदर्शन दिया जाएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker