मनोरंजन

केवल ₹500 से बनाई अरबों की संपत्ति, इस गलती की वजह से आज जेब में फूटी कौड़ी भी नहीं, जानिए बीआर शेट्टी की कहानी

 

डेस्क: बीआर शेट्टी दुनिया के सबसे अमीर कन्नड़ माने जाते थे। उन्हें दुबई की सबसे बड़ी फार्मास्यूटिकल कंपनी एनएमसी मालिक के रूप में भी जाना जाता है। मात्र ₹500 और अपनी कड़ी मेहनत से उन्होंने अरबों की संपत्ति हासिल की लेकिन अब वह पाई-पाई के कर्जदार बन चुके हैं। आज हम बीआर शेट्टी के बारे में जानेंगे फिर कैसे उन्होंने अपने करियर की शुरुआत की और किस गलती के कारण आज वह अरबों के कर्जदार बन चुके हैं।

कई बिजनेस में पाई सफलता

बीआर शेट्टी का जन्म 1 अगस्त 1942 को कर्नाटक के उडुपी जिले के कापू शहर में हुआ था। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के तौर पर की। उनकी किस्मत बदली और वह फार्मा बिजनेस की बुलंदियों पर पहुंचे। इसके अलावा उन्होंने फाइनेंशियल सर्विसेज, हॉस्पिटैलिटी, फूड एंड बेवरेज, फार्मास्यूटिकल मैन्युफैक्चरिंग और रियल स्टेट के क्षेत्रों में भी अपना हाथ आजमाया और सभी जगहों पर सफलता पाई।

यह भी पढ़ें: केवल ₹500 से बनाई अरबों की संपत्ति, इस गलती की वजह से आज जेब में फूटी कौड़ी भी नहीं, जानिए बीआर शेट्टी की कहानी

दो गुजराती भाइयों का ‘वरदान’, अब मिनटों में पीने योग्य हो जाएगा दूषित पानी

बनना चाहते थे राजनीतिज्ञ

वह एक के बाद एक सफलता की सीढ़ी चढ़ते चले गए लेकिन आज उनका सारा बिजनेस बिल्कुल बिखर चुका है। इसकी वजह ब्रिटिश निवेश फॉर्म मड्डी वाटर्स द्वारा जारी किया गया एक रिपोर्ट है। शुरुआत में शेट्टी को नेता बनने की इच्छा थी। इसके लिए उन्होंने राजनीति में अपना कदम बढ़ा दिया और दो बार नगर पालिका के चुनाव में भी खड़े हुए और जीत कर दिखाया। 1960 में उनकी मुलाकात उस समय के दिग्गज नेता अटल बिहारी बाजपेई और नरेंद्र मोदी से भी हुई।

राजनीति छोड़कर दुबई चले गए

जब उनकी बहन की शादी तय हुई तो उन्हें लोन लेना पड़ा और इस लोन को चुकाने के लिए उन्हें राजनीति छोड़नी पड़ी। वह अपने राजनीति के सपने को छोड़कर दुबई जाकर मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव की नौकरी करने लगे। 1973 में जब दुबई गए तब उनके पास केवल एक शर्ट और $8 थे। इस काम में उन्होंने अपनी जी जान लगा दी। आगे चलकर उन्होंने डॉक्टर चंद्रा शेट्टी से शादी कर ली और एक छोटा सा क्लीनिक खोला।

The-Story-of-BR-Shetty

सबसे अमीर भारतीयों की लिस्ट में नाम शामिल

उनकी पत्नी मरीजों का इलाज करती और वह क्लीनिक की साफ सफाई के साथ-साथ एंबुलेंस सेवा का काम संभालते थे। आगे चलकर उन्होंने इसी क्लीनिक को एनएमसी स्पेशलिटी हॉस्पिटल में बदला और हेल्थ सर्विसेज के बिजनेस में उतर गए। इसके अलावा भी उन्होंने कई कामों में हाथ आजमाया और सफलता भी पाई। 2019 में फोर्ब्स द्वारा भारतीय अरबपतियों की लिस्ट में 42वां स्थान दिया गया।

यह भी पढ़ें:
जानिए टोक्यो पैरालंपिक में भारत का परचम लहराने वाले IAS अधिकारी सुहास की कितनी है संपत्ति
गांव की गवार लड़की समझ रहे थे लोग लेकिन निकली IAS ऑफिसर

बुर्ज खलीफा में खरीदे दो फ्लोर्स

शेट्टी तब चर्चा का केंद्र बने जब उन्होंने विश्व के सबसे बड़ी इमारत बुर्ज खलीफा में दो फ्लोर्स खरीदे। इनकी कीमत 25 मिलियन डॉलर थी। 2005 में बीआर शेट्टी को दुबई के सबसे काबिल नागरिक का सम्मान दिया गया। इसके अलावा 2009 में उन्हें पद्मश्री से भी सम्मानित किया गया। लेकिन हालही में प्रकाशित एक रिपोर्ट में दावा किया गया कि एनएमसी में शेयर्स को लेकर भ्रष्टाचार हो रहा है।

फर्जीवाड़े के लगाए गए आरोप

इसके अलावा शेट्टी पर कई फर्जीवाड़े के भी आरोप लगाए गए जिसके बाद उनकी कंपनी के सारे बैंक खातों को सील कर दिया गया। आज उनकी कंपनी पांच अरब डॉलर के कर्ज में डूबी हुई है। हालांकि बीआर शेट्टी के अनुसार उन पर लगाए गए सारे आरोप झूठे हैं। बता दें कि मड्डी वाटर्स इससे पहले एलॉन मस्क की कंपनी टेस्ला पर भी फर्जीवाड़े का आरोप लगा चुकी है।

बीजेपी से नजदीकियों के कारण लगे आरोप?

ऐसा भी कहा जाता है कि बीजेपी से उनके लगाव के कारण उनका यह हश्र हुआ है। दरअसल, कई मौकों पर बीजेपी के समर्थन में टिप्पणी करते हुए नजर आते थे। ऐसा माना जा रहा है की यही कारण है कि उन्हें बर्बाद करने के लिए उनकी कंपनी पर ऐसे आरोप लगाए जा रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker