क्राइमपश्चिम बंगाल

लखनऊ के बाद अब कोलकाता में पकड़े गए तीन आतंकवादी, 15 अगस्त को अनहोनी की आशंका

 

डेस्क: उत्तर प्रदेश के लखनऊ से अलकायदा के दो आतंकी गिरफ्तार हुए हैं। उनकी साजिश 15 अगस्त को बम ब्लास्ट करने की थी।
इधर पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से भी तीन आतंकी पकड़े गए हैं। ये आतंकवादी बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) के बताए जा रहे हैं। इनकी गिरफ्तारी दक्षिण कोलकाता के हरिदेवपुर इलाके से हुई। कोलकाता पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने यह गिरफ्तारी की है।

यहां भी आशंका जतायी जा रही है कि ये 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर किसी अनहोनी की साजिश रच रहे थे।
गिरफ्तार आतंकियों के नाम नाजी-उर-रहमान, शेख शब्बीर और रबी-उल बताये गये हैं। कोलकाता पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम ने इन्हें शनिवार की रात को हरिदेवपुर इलाके से दबोचा।

किराये के मकान में ठहरे हुए थे

तीनों आतंकी दक्षिण कोलकाता के हरिदेवपुर में एक किराये के मकान में रहते थे। इनकी संदिग्ध गतिविधियों के बारे में गुप्त सूत्रों से सूचना मिली, तो स्पेशल टास्क फोर्स ने यह कार्रवाई की। बताया जा रहा है कि ये लोग लंबे समय से यहां रह रहे थे और अपने संगठन का विस्तार करने के अभियान में लगे हुए थे। पुलिस इनसे विस्तृत पूछताछ कर रही है।

three terrorists arrested in kolkata

बांग्लादेशी आतंकी संगठन पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई के लिए कर रहा काम

गिरफ्तार आतंकियों से पूछताछ में पता चला है कि तीनों बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिद्दीन बांग्लादेश के सदस्य हैं। तीनों पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करते थे। उक्त बांग्लादेशी संगठन पाकिस्तानी एजेंसी के इशारे पर भारत में किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने के लिए काम कर रहा है। ऐसे में अगले 15 अगस्त को किसी बड़ी घटना की आशंका से भी इंकार नहीं किया जा सकता है।

आतंकियों के पास से हथियार भी बरामद

कोलकाता पुलिस के अधिकारी वी सोलोमन नेसा कुमार ने बताया कि गिरफ्तार किये गये आतंकियों के पास से हथियार भी बरामद किये गये हैं। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि ये लोग कुछ दिनों पहले मुर्शिदाबाद में रह रहे थे और हाल ही में कोलकाता में शिफ्ट हुए थे।

जेएमसी बांग्लादेश में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन है

उल्लेखनीय है कि जेएमसी बांग्लादेश में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन है। इसके गुर्गे बंगाल में अपने संगठन का विस्तार करने में जुटे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker