मनोरंजन

कभी बांटा करता था अखबार, आज ऑस्ट्रेलिया में कमाता है करोड़ों, जानिए कैसे?

 

डेस्क: किस्मत कभी भी किसी की भी चमक सकती है। लेकिन इसके लिए मेहनत करना भी अनिवार्य है। बिना मेहनत के किसी को भी कुछ हासिल नहीं होता है। बड़े सपने देखने वालों को भी अपने सपनों को हकीकत में बदलने के लिए मेहनत का सहारा लेना पड़ता है। यदि अपने सपनों को पूरा करने के लिए लगन के साथ कड़ी मेहनत की जाए तो सपने अवश्य पूरे होते हैं।

आज हम आपको एक ऐसे ही शख्श की सच्ची कहानी बताने जा रहे हैं जिसने दिल लगाकर मेहनत किया और आज ऊंचाइयों को छू रहा है। एक वक्त ऐसा था जब आमिर कुतुब की जेब में चवन्नी भी नहीं हुआ करती थी। बेहद साधारण मध्यमवर्गीय परिवार से होने के कारण नौकरी के अलावा किसी दूसरे काम के बारे में सोचना आमिर के लिए आसान नहीं था।

पढ़ाई में नहीं लगता था मन

आमिर के पिता चाहते थे पढ़ लिख कर कोई अच्छी नौकरी करे। लेकिन आमिर का मन पढ़ाई में भी बिल्कुल नहीं लगता था। जैसे तैसे 12वीं पास करने के बाद आमिर ने एक बीटेक कॉलेज में एडमिशन लिया। बीटेक की डिग्री लेने के बाद उन्होंने कंपनी में नौकरी करना शुरू कर दिया लेकिन कुछ दिनों में ही उन्होंने नौकरी छोड़ दिया इसके पीछे कारण यह था कि नौकरी करना ही नहीं चाहते थे।

Amir-Qutub-earns-crores-in-australia

नौकरी छोड़कर शुरू किया फ्री लैंसिंग

आमिर कुतुब नौकरी को छोड़ कर अपना फ्री लैंसिंग का काम शुरू किया। वह ग्राफिक डिजाइनिंग का काम किया करते थे जिसके लिए उनके पास दुनिया भर से क्लाइंट आने लगे। उनके कई क्लाइंट्स ऑस्ट्रेलिया से भी थे। एक बार उनके क्लाइंट ने उन्हें ऑस्ट्रेलिया कर काम करने का सलाह दिया उसका कहना था ऑस्ट्रेलिया में आकर वह बड़े पैमाने में अपना काम कर सकता है इसके बाद आमिर ने ऑस्ट्रेलिया जाने की ठान ली।

किया साफ-सफाई का काम

स्टूडेंट विजा से ऑस्ट्रेलिया जाने के लिए उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के कॉलेज में एमबीए में दाखिला लिया। वह ऑस्ट्रेलिया चल तो गए लेकिन उनके लिए वहां रह पाना काफी मुश्किल हो गया कुछ समय बीतने के बाद उन्हें आर्थिक तंगी का भी सामना करना पड़ा। इससे बचने के लिए उन्होंने एयरपोर्ट में साफ-सफाई का काम शुरू किया। लेकिन दिन भर इस काम में व्यस्त रहने के कारण अपने श्री लैंसिंग के काम में वह समय नहीं दे पा रहे थे।

Aamir-Qutub-in-australia

शुरू किया अखबार बांटना

अपने काम में अधिक समय दे सके इसके लिए उन्होंने अखबार बांटना शुरू कर दिया। वह सुबह 3:00 बजे से 7:00 बजे तक अखबार बांटने का काम करते थे इसके बाद वह अपने काम में लग जाते थे। उन्होंने मेहनत से कभी भी जी नहीं चुराया। अपने सपने को पूरा करते हुए वह भारत से ऑस्ट्रेलिया आए और लगातार मेहनत करते रहे।धीरे-धीरे उन्हें कई क्लाइंट्स मिलने शुरू हो गए और उनका काम जोर पकड़ने लगा।

आज हैं 10 करोड़ की कंपनी के मालिक

आज आमिर कुतुब की ऑस्ट्रेलिया में अपनी एक कंपनी है जहां उन्होंने 100 लोगों को स्थाई और 300 लोगों को अस्थाई नौकरी दी है। आज उनकी कंपनी का सालाना टर्नओवर 10 करोड़ रुपए से भी अधिक है। उनकी मेहनत के दम पर ही आज उनकी कंपनी दिन दोगुनी और रात चौगुनी तरक्की कर रही है। अपनी मेहनत के बदौलत आज आमिर ने यह मुकाम हासिल किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker