क्राइम

कश्मीर में दर्दनाक आतंकी वारदात, हमले के पीछे जैश-ए-मोहम्मद, मेहबूबा मुफ्ती, उमर अबदुल्ला सहित अन्य नेताओं ने की निंदा

डेस्क: पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर के मसले पर वहां के सभी राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ बैठक की थी। वहां शांति बहाली की तमाम कोशिशों को विफल करने के लिए आंतकी संगठनों ने अशांति का माहौल बनाना शुरू कर दिया है। एक दिन पहले ड्रोन के जरिये एयरफोर्स स्टेशन पर बमबारी के बाद एक पुलिस अधिकारी के घर में घुस कर गोलीबारी करने का मामला सामने आया, जिसमें पुलिस अधिकारी के साथ उनकी पत्नी व बेटी की मौत हो गयी। इस आतंकी वारदात में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हाथ बताया गया है। इस घटना की घाटी की सभी पार्टियों ने निंदा की है।

घटना से जम्मू कश्मीर में आक्रोश की लहर दौड़ी

जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों द्वारा एक विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) और उसके परिवार की नृशंस हत्या से जम्मू कश्मीर में आक्रोश की लहर दौड़ गई है तथा राजनीतिक दलों ने इस घटना को एक “क्रूर और कायराना” हरकत और घाटी की सुरक्षा व्यवस्था पर धब्बा करार दिया है। अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि फैयाज अहमद, उसकी पत्नी रजा बेगम और 22 साल की बेटी राफिया, दक्षिण कश्मीर के अवंतीपुरा इलाके में स्थित अपने घर में थे, जब आतंकवादियों ने रविवार रात 11 बजे अंदर घुसकर उन पर अंधाधुंध गोलियां चला दी। यह गांव श्रीनगर से 50 किलोमीटर दक्षिण में स्थित है। अहमद को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत अवस्था में लाया गया घोषित कर दिया गया। एसपीओ की पत्नी ने रात में दम तोड़ दिया जबकि सोमवार सुबह उनकी बेटी की भी मौत हो गई।

जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकवादी वारदात में शामिल

अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि क्षेत्र की घेराबंदी कर दी गई है और हमलावरों की तलाश की जा रही है। उन्होंने कहा कि अभी तक इस संबंध में किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। कश्मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने कहा कि एक विदेशी समेत जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकवादी इस वारदात में शामिल थे।

एक हुलिए से विदेशी आतंकी बताया जा रहा

कुमार ने संवाददाताओं से कहा, “इस क्षेत्र में आतंकवादियों की गतिविधियां देखी गई हैं। कल रात दो आतंकवादी आए थे, जिनमें से एक हुलिए से विदेशी आतंकी लगता है।” हाल ही में आतंकवादियों ने पुलिस और सुरक्षा बलों पर हमले तेज कर दिए हैं। पिछले सप्ताह श्रीनगर के नौगाम और ईदगाह इलाकों में एक निरीक्षक तथा एक कांस्टेबल की हत्या कर दी गई थी। इसके अलावा शहर के बर्बरशाह इलाके में ग्रेनेड से हुए हमले में एक नागरिक की मौत हो गई थी। नेताओं ने एसपीओ और उसके परिवार पर हुए हमले की निंदा की है।

उमर अब्दुल्ला ने की घटना की निंदा

नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘‘मैं जम्मू-कश्मीर पुलिस के एसपीओ फैयाज अहमद, उनकी पत्नी और उनकी छोटी बेटी पर कल रात घर पर हुए कायरतापूर्ण आतंकवादी हमले की निंदा करता हूं। मैं प्रार्थना करता हूं कि वे जन्नत में अपना स्थान प्राप्त करें और उनके परिजन को दुख की इस घड़ी में ताकत मिले।”

नेकां ने घटना को कश्मीर में सुरक्षा स्थिति पर ‘धब्बा’ बताया

नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) ने घटना को कश्मीर में सुरक्षा स्थिति पर ‘धब्बा’ बताया। नेकां ने ट्वीट किया, ‘‘नेशनल कॉन्फ्रेंस विशेष पुलिस अधिकारी, उनकी पत्नी और 23 वर्षीय बेटी की बर्बर हत्याओं की पुरजोर निंदा करती है। यह कायरतापूर्ण, अमानवीय कृत्य है और कश्मीर में सुरक्षा परिदृश्य पर धब्बा है।”

महबूबा ने कहा आत्माओं की शांति की प्रार्थना की

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया, ‘‘अवंतीपुरा में कायरतापूर्ण हमले की निंदा करने के लिए कोई भी शब्द काफी नहीं हैं, जहां जम्मू कश्मीर पुलिस के अधिकारी फैयाज अहमद, उनकी पत्नी और बेटी की जान चली गई। ऊपर वाला उनकी आत्मा को शांति दे और उनके परिजन को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करे।”

माकपा ने भी घटना की निंदा की

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के वरिष्ठ नेता मोहम्मद यूसुफ तारिगामी ने कहा कि निहत्थे नागरिकों की हत्या को किसी भी तरह से जायज नहीं करार दिया जा सकता। तारिगामी ने कहा, ‘‘महिलाओं, बेकसूर लोगों की हत्याएं अत्यंत निंदनीय हैं और सभ्य समाज में ऐसी घटनाओं का कोई स्थान नहीं है। हर किसी को इस घटना की निंदा करनी चाहिए।” उन्होंने कहा कि कश्मीर में तीन दशक से हिंसा का कुचक्र जारी है ‘‘लेकिन अब तक क्या हासिल हुआ है?” तारिगामी ने कहा, ‘‘यह किसके हित में है? लगातार हो रही हिंसा पर विचार करने की आवश्यकता है। समाज को सामने आना चाहिए और हिंसा के ऐसे क्रूर कृत्यों के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए।”

अल्ताफ बुखारी ने घटना को अमानवीय बताया

जम्मू कश्मीर अपनी पार्टी के अध्यक्ष सैयद मोहम्म्द अल्ताफ बुखारी ने भी इस हत्याकांड को अमानवीय करार दिया। पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन ने कहा कि हत्या की खबरें अत्यंत दुखद हैं और हिंसा के गुनहगारों को किसी की परवाह नहीं है। लोन ने ट्वीट किया, ‘‘सुबह उठते ही दुखद खबर मिली। पूरे परिवार को गोलियों से भून दिया गया। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें। परिवार को दुख सहन करने की ताकत मिले।”

भाजपा ने कायरतापूर्ण और बर्बर हमला बताया

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इसे कायरतापूर्ण और बर्बर हमला बताते हुए कहा कि किसी पुलिसकर्मी के घर में घुसना और उनकी तथा उनके परिवार के सदस्यों की हत्या करना आतंकवादी कृत्य है। भाजपा के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘जिन्होंने यह हरकत की, वे कड़ी निंदा के पात्र हैं और जो इस घटना के लिए जिम्मेदार हैं, उनका भी यही हश्र होगा। पुलिसकर्मी की बेगुनाह पत्नी और बेटी का क्या कसूर था? महिलाओं की हत्या करना कोई बहादुरी का काम नहीं, बल्कि यह कायराना हरकत है, जिसकी कड़े से कड़े शब्दों में निंदा की जानी चाहिए।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker