अंतरराष्ट्रीय

सिर्फ भारत ही नहीं, इन देशों के साथ भी ट्विटर का रह चुका है पंगा

डेस्क: भारत में आजकल ट्विटर को लेकर काफी विवाद (Twitter has controversy with these countries) चल रहा है। नौबत तो भारत में ट्विटर के बैन होने तक की आ गई है। कुछ दिनों पहले शुरू हुई ट्विटर और भारत सरकार की नोकझोंक और सरकार वर्सेस ट्विटर का रूप ले चुका है।

दरअसल, भारत सरकार द्वारा लागू किए गए नए आईटी रूल्स के बारे में ट्विटर का कहना है कि इससे यूजर्स के फ्री स्पीच के अधिकार के साथ खिलवाड़ हो सकता है।

Also Read: सामने आया एक और नया फंगल इंफेक्शन, कोरोना मरीजों को सावधान रहने की जरूरत

संबित पात्रा के टूलकिट से शुरू हुआ विवाद

SAMBIT PATRA TWITTER CONTROVERSY

 

आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले संबित पात्रा ने एक कथित टूलकिट ट्विटर पर शेयर किया था। संबित पात्रा के टूलकिट को ट्विटर पर शेयर करने के (Twitter has controversy with these countries) बाद पोस्ट के नीचे ट्विटर ने मैनिपुलेटेड मीडिया का लेबल लगा दिया था।

इस घटना के बाद भारत सरकार और ट्विटर के बीच जंग छिड़ गई है। हालांकि यह पहली बार नहीं है ट्विटर का किसी देश की सरकार के साथ इस तरह की नोकझोंक हुई हो। इससे पहले भी कई बार कई देशों की सरकारों के साथ ट्विटर (Twitter has controversy with these countries) की कहासुनी हो चुकी है।

ministry of electronics and information technology

Also Read: यास से नुकसान का आकलन करने आ रहे हैं मोदी, मिलेंगे ममता और नवीन पटनायक से

भारत के अलावा अन्य देशों से भी विवाद

भारत के अलावा फ्रांस, इजरायल, पाकिस्तान, साउथ कोरिया, रूस, तुर्की जैसे देशों के साथ भी सेंसरशिप की वजह से ट्विटर की कहासुनी हो चुकी है। चीन में तो ट्विटर पर (Twitter has controversy with these countries) ऑफिशियल बैन भी लगा हुआ है।

अमेरिका में डॉनल्ड ट्रंप के शासनकाल के दौरान कई बार ट्रंप वर्सेस टि्वटर हो चुके हैं। अंत में ट्विटर ने डॉनल्ड ट्रंप के ट्विटर अकाउंट को अपने प्लेटफार्म से ही हटा दिया। दरअसल ट्विटर ने डॉनल्ड ट्रंप के कुछ वीडियोस पर में भी मैनिपुलेटेड मीडिया का लेबल लगा दिया था।

DONALD TRUMP VS TWITTER

Also Read: जानिए क्या होगा अगर एक टीका कोविशील्ड और दूसरा टीका कोवैक्सीन का लगे?

ईरान के सुप्रीम को भी किया बैन

ट्रंप के सपोर्ट में ट्वीट करने के कारण ईरान के सुप्रीम Ayatollah Ali Khamenei का अकाउंट भी सस्पेंड कर दिया गया था। बाद में ट्विटर (Twitter has controversy with these countries) ने सफाई भी दी कि यह एक फेक अकाउंट था जिसे स्पैम फैलाने के लिए बनाया गया था।

गौरतलब है कि अभी कुछ समय से सभी देश आईटी के नियमों में सुरक्षा की दृष्टि से काफी बदलाव कर रहे हैं। लेकिन ट्विटर इन बदलावों को नहीं अपना रहा है। इस वजह से कई देशों में इसे परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker