राष्ट्रीय

नीरज चोपड़ा की यह बातें सुन आपको हंसी भी आएगी और गर्व भी होगा

डेस्क: टोक्यो ओलंपिक 2020 में गोल्ड मेडल जीतकर गोल्डन ब्वॉय का खिताब हासिल करने वाले नीरज चोपड़ा भारत आ चुके हैं। 9 अगस्त को भारत लौटने के साथ ही दिल्ली एयरपोर्ट पर उनका भव्य स्वागत हुआ। पूरा एयरपोर्ट “भारत माता की जय” के नारों से गूंज उठा। वहां उनका rt-pcr टेस्ट किया गया। जिसके बाद वह दिल्ली के अशोका होटल पहुंचे।

अशोका होटल में टोक्यो में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले सभी खिलाड़ियों के लिए सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था। इस दौरान खेल मंत्री अनुराग ठाकुर सहित कई अन्य केंद्रीय मंत्रियों ने भी उनको सम्मानित किया। इस दौरान केंद्रीय मंत्री निशिथ प्रमाणिक भी वहां मौजूद थे।

Neeraj chopra in ashoka hotel

मोदी खिलाएंगे चूरमा और गोलगप्पा!

खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने सभी खिलाड़ियों से वादा किया कि युवा सभी खिलाड़ियों को चूरमा और गोलगप्पा खिलाएंगे। उन्होंने कहा कि जिस दिन प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे उस दिन उन सभी की दावत होगी। दावत में गोलगप्पा और चूरमा भी रहेगा।

15 अगस्त को पीएम मोदी मिलेंगे खिलाड़ियों से

9 अगस्त को आयोजित किए गए सम्मान समारोह में प्रधानमंत्री मोदी यूएनएससी की अध्यक्षता में व्यस्त होने के कारण भारतीय खिलाड़ियों से नहीं मिल सके। लेकिन बताया जा रहा है 15 अगस्त के दिन दिल्ली के लाल किले में स्वतंत्रता दिवस समारोह मैं पीएम उन सभी से मुलाकात करेंगे।

जेब में पदक लेकर घूमते हैं नीरज चोपड़ा!

दिल्ली के अशोका होटल में सम्मान समारोह के दौरान नीरज चोपड़ा ने कई बातें कहीं जिन्हें सुन आपको हंसी भी आएगी और गर्व भी होगा। उन्होंने कहां यह पदक मेरा नहीं बल्कि पूरे देश का है। साथ ही उन्होंने कहा कि ओलंपिक में पदक जीतने के बाद में इतनी खुशी हो रही है कि जेब में पदक को लेकर ही घूम रहे हैं। जीतने के बाद से ही नीरज ना तो चैन से सो सके हैं और ना ही खा सके हैं। सम्मान समारोह के दौरान उन्होंने सभी को अपना मेडल भी दिखाया इस दौरान भी मेडल उनके जेब में थी।

Neeraj chopra's gold medal

सुबह उठा तो बदन में दर्द था: नीरज

इस दौरान नीरज ने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है उनकी वजह से देश को इतना बड़ा सम्मान मिला। ओलंपिक में जीतने के बाद उन्हें काफी गर्व हो रहा था लेकिन अगले दिन सुबह उनके पूरे बदन में दर्द था। उन्होंने कहा कि “शरीर इतना दुख रहा था लेकिन यह दर्द सहन करने में कोई समस्या नहीं थी।”

कभी ना डरने की दी सलाह

सम्मान समारोह के दौरान नीरज चोपड़ा ने कहा की विरोधी चाहे कोई भी हो कभी उस से डरना नहीं चाहिए। उनके अनुसार ओलंपिक में उनसे भी बड़े बड़े खिलाड़ी वहां उपस्थित थे। लेकिन उन्हें खुद पर भरोसा था। इसी कारण उन्हें कामयाबी मिली। बता दें कि 13 साल बाद ट्रैक एवं फील्ड में स्वर्ण जीतने वाले वह पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker