बिहार

नीतीश कुमार से मांग आधार कार्ड से भी मिले लोगों को राशन

सामाजिक संस्था ट्राइडेंट सेवा के द्वारा मांग बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मांग की गयी है कि राशनकार्ड के अलावा आधार कार्ड से भी मिले राशन

डेस्क: कोरोना का कहर भारत सहित पूरे विश्व पर जारी है, सरकारें अपनी स्तर पर इस महामारी से बचने के लिए प्रयासरत है। 24 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में 21 दिन की लॉक डाउन की घोषणा की थी। जिसके बाद से राशन और जरूरी चीजों की किलत दिखती रही है।

हर राज्य सरकारें अपनी स्तर पर नगद राशि एवं चावल और गेहूं लोगों में बांट रही है। इस कड़ी में बिहार की नीतीश सरकार आगे बढ़ रही है।
लोगों की शिकायत रही है कि कुछ लोगों के पास राशनकार्ड नहीं है जिस वजह से उन्हें वो सुविधा नहीं मिल पा रही जो मिलना चाहिए था।

Vivekanand thakur

सामाजिक संस्था ट्राइडेंट सेवा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष विवेकानंद ठाकुर ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को मेल करके कहा है कि लोगों को आधार कार्ड से भी राशन व अन्य सेवा मिलनी चाहिए, उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि “वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को देखते हुए राहत पैकेज की सरकारी घोषणा हुई हैं।लेकिन बिहार में लाखों गरीब लोग आज भी राशन कार्ड से वंचित हैं।उनको आधार कार्ड के आधार पर राहत सामग्री दिया जाय।बहुत ऐसे परिवार है जिनके पास राशन कार्ड नहीं है,उनके लिये सरकार को वैकल्पिक व्यवस्था करने की जरूरत है।उन्होंने कहा कि बिहार के उन नागरिकों को जो दिहाड़ी मजदूर, ऑटो रिक्शा चलाने वाले,सड़क पर समान बेचने वाले,आदि लोगों जिनके पास राशन कार्ड नहीँ है,वैसे लोगों को भुखमरी से बचाने के लिए आधार कार्ड पर कम से कम एक माह का राशन उपलब्ध होनी चाहिए ,ऐसा होने से एक बहुत बड़ी आवादी भुखमरी के शिकार से बचेगी। ट्राइडेंट सेवा के प्रदेश अध्यक्ष सरकार से मांग किया है कि वैसे गरीब गुरवा को भी राशन उपलब्ध कराया जाय जिनके पास राशन कार्ड नहीँ है,आधार कार्ड के आधार पर राशन कार्ड उपलब्ध कराया जाना चाहिए।”

श्री ठाकुर एकेजे न्यूज से बात करते हुए बताया कि आपदा के समय में कागजी झमेला कम करते हुए सरकार को सभी का मदद करनी चाहिए।

सामाजिक संस्थाओं को भी लोगों के मदद के लिए आगे आना चाहिए, अपने स्तर पर ट्राइडेंट सेवा भी लोगों का सेवा कर रही है सावधानी बरतें हुए।
लोगों को ये भी सुनिश्चित करना चाहिए कि वे सोशल डिस्टेंस बना रहे और एक दूसरे का साहियोग करते हुए कोरोना महामारी से लड़े।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker