धार्मिकपश्चिम बंगाल

जानिए, क्या है मकर संक्रांति 2021 के पुण्य स्नान का शुभ मुहूर्त

कोलकाता. मकर संक्रांति (Makar Sankranti) पर पवित्र नदियों में डुबकी लगा कर पुण्य स्नान किया जाता है. मान्यता है कि इस दिन शुभ मुहूर्त में गंगासागर में डुबकी लगाने से मोक्ष की प्राप्ति होती है.

इस वर्ष मकरसंक्रांति पर पुण्य स्नान गुरुवार की सुबह छह बजकर दो मिनट से शुरू होकर शुक्रवार की सुबह छह बजकर दो मिनट तक रहेगा. जिसके दौरान तीर्थयात्री गंगासागर में डुबकी लगाकर पुण्य के भागी बन सकते हैं.

ये जानकारी गंगासागर स्थित कपिलमुनि आश्रम के महाराज संजय दास जी ने दी है. उन्होंने कहा कि कुंभ के बाद यदि कोई इतना बड़ा मेला आयोजित होता है तो वह गंगासागर मेला ही है.

उन्होंने कहा कि कंही न कंही नदियों में पवित्रतम नदी का गहरा छाप गंगा ने छोड़ा है, वंही समुद्र की अलग महिमा है जहां पर सारी नदियां आकर लीन होजाती हैं. यह स्थान अपने आप में विशिष्ट महत्व रखता है.

ऐसे में यंहा पर जो भी पुण्य स्नान करेगा, वह अवश्य पुण्य का भागी होगा. संजय महाराज ने कहा कि जंहा की जंहा तक कोविड का सवाल है, इसमें शक नहीं कि प्रशासन की व्यवस्था हर बार से ज्यादा अच्छी है.

यह समय जो चल रहा इसके दौरान प्रयाग में माघ मेला व हरिद्वार में कुम्भ मेला भी सुचारू रूप से आयोजित किया जा रहा है, एक यह भी वजह है जिसके कारण कुछ साधु व तीर्थयात्री दूसरी तरह मुड़े हैं. हालांकि इस वर्ष कोरोना के दौरान भी राज्य सरकार की व्यवस्था में कोई कमी नहीं है. हर साल से ज्यादा मजबूत व अच्छी व्यवस्था है, जिससे कोई अप्रिय घटना न घटे.

मकर संक्रांति की सुबह नौ बजे शंकराचार्य लगायेंगे डुबकी

श्री गोवर्धन मठ पूरी ओडिशा संस्थान द्वारा दी गयी सूचना के अनुसार मकरसंक्रांति की सुबह नौ बजे जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती जी महाराज गंगासागर में पुण्यस्नान करेंगे. इसके बाद वह श्रद्धालुओं को संबोधित कर मकरसंक्रांति को पूरी के लिए रवाना हो जायेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker