धार्मिक

देवी गंगा के नाभि के नीचे से निकलता है पानी, साल भर होता है शिव जी का अभिषेक, रहस्यों से भरा मंदिर

डेस्क: भगवान शिव हिंदुओं के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण देवता हैं। उन्हें हिंदू पौराणिक कथाओं में ‘विनाशक’ के रूप में जाना जाता है। श्रावण महीने में शिव जी के भक्त कांवड़ लेकर उन्हें जल चढ़ाने जाते हैं। लेकिन झारखण्ड के रामगढ़ जिले में एक ऐसा मंदिर है जहां हर दिन चमत्कार होता है। यहां साल भर चैबीसो घंटे शिव जी का अभिषेक स्वयं माँ गंगा करती है।

टूटी झरना मंदिर का रहस्य

भगवान शिव को समर्पित टूटी झरना मंदिर झारखंड के रामगढ़ जिले के मांडू ब्लॉक के एक गांव बोंगाबार में स्थित है जहां माना जाता है कि देवी गंगा स्वयं शिवलिंग पर जल डालती हैं। सबसे दिलचस्प बात यह है कि यह जल की धारा सदियों से बहती आ रही है।

Tuti-Jharna-Mandir-Jharkhand

टूटी झरना मंदिर का इतिहास

यह सब वर्ष 1925 में शुरू हुआ जब अंग्रेज इस क्षेत्र में रेलवे लाइन स्थापित कर रहे थे। मजदूर पानी के लिए जमीन की खुदाई कर रहे थे, और अचानक उन्हें नीचे एक गुंबद दिखाई देने लगा। अंग्रेज हैरान रह गए और गुंबद के बारे में और जानने के लिए उन्होंने मजदूरों को पूरी तरह से जमीन खोदने का निर्देश दिया।

Also Read: भगवान शिव का ऐसा मंदिर जहाँ सीढ़ियों से निकलती है सरगम की आवाज, चोल वंश की टेक्नोलॉजी से हो पाया संभव

पूरी तरह से खोदने के बाद, अंग्रेजों ने इसे एक शिवलिंग स्थापित मंदिर के रूप में पाया। लेकिन शिवलिंग के ठीक ऊपर देवी गंगा की एक मूर्ति थी जहां से पानी लगातार निकल रहा था। इस दृश्य को देखकर वे और भी हैरान रह गए।

Tuti-Jharna-Mandir-Handpump

नाभि के नीचे से बहता है पानी

यह पानी देवी की नाभि के नीचे से बह रहा था और उनके दोनों हाथों से शिवलिंग पर ऐसे गिर रहा था जैसे देवी की मूर्ति शिवलिंग पर पानी डाल रही हो।

हैरानी की बात यह है कि पानी अभी भी देवी गंगा की मूर्ति के माध्यम से बहता है और तब से एक बार भी नहीं रुका है। मंदिर परिसर के भीतर मिले दो हैंडपंप भी रहस्य से भरे हुए हैं। दोनों हैंडपंपों से पानी बिना किसी रुकावट के अपने आप बहता रहता है।

पूरी होती है सभी मनोकामनाएं

अधिक आश्चर्य की बात यह है कि मंदिर के ठीक बगल में एक नदी बहती है, जो गर्मी के मौसम में सूख जाती है, लेकिन मंदिर का पानी कभी नहीं सूखता। आज तक कोई भी मंदिर में पानी के स्रोत का पता नहीं लगा पाया है।

मंदिर में हर साल हजारों श्रद्धालु आते हैं। ऐसा माना जाता है कि जो लोग मंदिर में आते हैं उनकी सभी मनोकामनाएं भगवान द्वारा पूरी की जाती हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker